हल - हिंदी कविता। Solution - A Hindi Poem

हल


एक कहावत है
 मेहनतका फल और समस्या का हल 
देर सही पर मिलता जरूर है
वह, धीरज रखना है!
समय कभी एक जैसा नहीं होता 
समस्या कितनाभी जटिल हो
एकदिन हल जरूर निकलता!

हल - हिंदी कविता। Solution - A Hindi Poem


जिंदगी खुशियों भरा नहीं होता
 होनाभी नहीं चाहिए
 अगर नहीं होगा समस्यासे मुकाबला 
तो आगे कैसे वरोगे?
कठिनाई आती है जीना सिखाने,
तुम्हें सिर्फ धीरजसे काम करनाहै 
हौसला कभी ना हारो
 और, हल्का तलाश जारी रखो!

कहतेहैं ढूंढनेसे भगवानभी मिलताहै
 तो, हल क्यों नहीं मिलेगा?
दिल से काम करते जाओ
 तलाशभी जारी रखो,
 वह समय जरूर आएगा,
 तुम्हारा समस्याका हल जरूर मिलेगा!

परिये अगले कविता (फुटबॉल)

परिये पिछले कविता (रुपिया)





Comments

Popular posts from this blog

ফেয়ারওয়েল কবিতা। Farewell - A Poem

ওয়াল ম্যাগাজিন - একটি কবিতা। Wall Magazine - A Poem

অভিভাবক - একটি কবিতা। Guardian - A Poem

Out Of Cocoon - A Short Story

তুমি এসেছো বলে - একটি কবিতা | As You Have Come - A Poem

বেতন - একটি কবিতা। Salary - A Poem

মা বোল্লাকালী - একটি কবিতা। Ma Bollakali - A Poem.